जयशंकर | जयशंकर प्रसाद | जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय हिंदी में | Jaishankar Prasad Biography In Hindi

जयशंकर प्रसाद का जीवन परिचय हिंदी में | Jaishankar Prasad Biography In Hindi

जयशंकर प्रसाद जी एक साधारण प्रतिभाशाली कवि थे | इनका जन्म काशी के एक  वैश्य परिवार में  में सन 1889 में हुआ था इनके पिता का नाम देवी प्रसाद था | इनके पिता तंबाकू के एक प्रसिद्ध व्यापारी थे बचपन में ही पिता की मृत्यु हो गयी थी |

  • उनकी प्रारंभिक शिक्षा घर पर प्रारंभ हुई  घर पर इन्होंने हिंदी अंग्रेजी संस्कृत उर्दू फारसी का गहरा अध्ययन किया |
  •  ये मिलनसार हंसमुख और सरल स्वभाव के व्यक्ति थे |
  •  प्रसाद जी साधारण प्रतिभाशाली कवि थे उनके काव्य में एक ऐसा नेतृत्व आकर्षक एवं चमत्कार है
  • यह बड़े स्वाभिमानी थे अपनी कहानी अथवा कविता के लिए पुरस्कार स्वरूप एक पैसा भी नहीं लेते थे

जयशंकर प्रसाद की रचनाएं:-

  • काव्य- कानन कुसुम, महाराणा का महत्व, झरना, लहर, आंसू, कामायनी प्रेम पथिक |
  • उपन्यास- कंकाल, तितली, इरावती (अपूर्ण उपन्यास) |
  • कहानी  – छाया, प्रतिध्वनि, आंधी, इंद्रजाल, आकाश-दीप, पुरस्कार, ममता |
  • एकांकी- प्रायश्चित, परिणय |
  • नाटक- स्कन्दगुप्त, चन्द्रगुप्त, ध्रुवस्वामिनी, जनमेजय का नाग यज्ञ, राज्यश्री, कामना एक घूंट, करुणालय, विशाख, अजातशत्रु |
  • निबंध– सम्राट चन्द्रगुप्त मौर्य, प्राचीन आर्यावर्त और उसका प्रथम सम्राट, काव्य कला |

जयशंकर प्रसाद का जीवन बड़ा  ही  संयम शील था किंतु दुखों ने तो मानो जैसे  इन्हे घेर ही  लिया हो दुखो से  यह बच नहीं सके और सन 1937 ई में अवस्था में ही एक भयंकर बीमारी  से ग्रस्त होकर स्वर्ग सिधार गए |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *